परिचय

Introduction

परिचय

स्थापना एवं उद्देश्य

 

स्वतंत्र भारत में संस्कृति एवं राष्ट्र हित के चिंतन को अभिप्रेरित करने के उद्देश्य से विद्यालय की स्थापना जुलाई 2009 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के चतुर्थ सरसंघचालक प्रोफेसर राजेन्द्र सिंह उपाख्य पूज्य रज्जू भईया की माँ ज्वाला देवी की स्मृति में रज्जू भईया शिक्षा प्रसार समिति द्वारा की गई। अपने स्थापना काल से ही विद्यालय में बहुआयामी प्रगति करते हुए महानगर के शिक्षा क्षेत्र में अपना एक विशिष्ट स्थान बनाया है।

 

विद्यालय की वर्तमान स्थिति

 

विद्यालय हिन्दी माध्यम का प्रयाग महानगर में उत्कृष्ट शिक्षा संस्थान के रूप में जाना जाता है। यह विद्यालय परम पावनी माँ भागीरथी के सुरम्य तट पर स्थित है। वर्तमान समय में

  • 40 शिक्षण कक्ष,
  • 1 प्रशासनिक कक्ष,
  • 1 कार्यालय,
  • 4 प्रयोगशालाएँ,
  • 1 विशाल सभागार,
  • 1 ध्यान एवं योग कक्ष,
  • 1 संगणक कक्ष,
  • 1 पुस्तकालय तथा
  • 1 शारीरिक कक्ष है।

 

विद्यालय में 1400 भैया - बहिन शिक्षा प्राप्त कर रहे है। भईया - बहिनों के सहयोग एवं उचित मार्गदर्शन हेतु सुयोग्य आचार्य एवं आचार्या कठिन परिश्रम कर रहे है। विद्यालय में छात्रों के आने-जाने हेतु परिवहन सुविधा उपलब्ध है। विद्यालय में कक्षा शिशु (नर्सरी) से द्वादश (इण्टर) तक बालक-बालिकाओं की सह-शिक्षा (को-एजूकेशन) की व्यवस्था है। विभिन्न शिक्षणेत्तर क्रियाकलाप में भी विद्यालय के छात्र-छात्रायें अपनी श्रेष्ठता कायम किये हुए है। भविष्य मं भी विद्यालय इसी प्रकार श्रेष्ठता को प्राप्त करें। विद्यालय परिवार की ऐसी कामना माँ सरस्वती से है।